Advertisement

सफलता की कुंजी: लक्ष्मी जी को पसंद नहीं हैं ये दो काम, बनाकर रखें दूरी, बनी रहती है धन की कमी

Safalta Ki Kunji : चाणक्य नीति के अनुसार जो लोग बुरे कार्यों में लिप्त रहते हैं, उनके पास लक्ष्मी जी जाना पसंद नहीं करती हैं. ऐसे लोगों को समाज में सम्मान भी प्राप्त नहीं होता है. गीता में भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि बुरे कार्य को करने वाले सदैव परेशान रहते हैं. ऐसे लोगों को जीवन में कभी सफलता प्राप्त नहीं होती है.

विद्वानों की मानें तो जीवन की सफलता अच्छे गुणों में निहित है. जो व्यक्ति सदाचार और संस्कारों को अपनाकर अपने सभी कार्यों को करता है, उसे सभी का प्रेम और स्नेह प्राप्त होता है. ऐसे व्यक्ति संकट के समय परेशान नहीं होते हैं. चुनौतियों से निपटना ऐसे लोगों को अच्छी तरह से आता है.

अच्छे गुणों को अपनाने से आत्मविश्वास बढ़ता है और कार्यों को पूर्ण करने की क्षमता विकसित होती है. गलत कार्यों से कुछ समय के लिए सफलता यदि मिल भी जाए तो वो लंबे समय तक नहीं रहती है. सच्चाई का पता चलने पर इस स्थिति में लज्जित भी होना पड़ता है. इसलिए इन कार्यों से दूरी बनाकर रखें.

दूसरों का अहित न करें
चाणक्य नीति कहती है कि जो लोग हमेशा दूसरों का अहित करने के बारे में सोचते रहते हैं, वे सदैव परेशानी और दुख उठाते हैं. ऐसे लोगों की संपूर्ण ऊर्जा नकारात्मक चीजों में ही व्यय होती है. ऐसे लोग सफलता के लिए संघर्ष करते हैं. इनके जीवन में लक्ष्मी जी कृपा नहीं रहती है.

अहंकार न करें
गीता में कहा गया है कि व्यक्ति का सबसे बड़ा शत्रु अहंकार है. इससे दूरी बनाकर रखना चाहिए. अहंकार करने वाले व्यक्ति को सम्मान प्राप्त नहीं होता है. ऐसे लोगों से हर कोई दूरी बनाकर रखना चाहता है. अहंकार में व्यक्ति अपना भी नुकसान करता है और कभी कभी दूसरे भी इससे प्रभावित होते हैं.

Kokila Vrat 2021: कोकिला व्रत कब है? ये व्रत विवाह में आने वाली परेशानियों को दूर करता है, जानें इस व्रत की डेट, तिथि और शुभ मुहूर्त

Sawan 2021: 25 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो रहा है, 26 जुलाई को है सावन का पहला सोमवार

Source link

The post सफलता की कुंजी: लक्ष्मी जी को पसंद नहीं हैं ये दो काम, बनाकर रखें दूरी, बनी रहती है धन की कमी appeared first on Latest News In Hindi हिंदी मैं ताज़ा समाचार.



source https://www.hindinewslatest.in/%e0%a4%b8%e0%a4%ab%e0%a4%b2%e0%a4%a4%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%82%e0%a4%9c%e0%a5%80-%e0%a4%b2%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%80-%e0%a4%9c%e0%a5%80/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ