पश्चिम बंगाल: शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई पर राहत सामग्री की चोरी के आरोप में केस दर्ज

यह मामला पूर्व मेदिनीपुर ज़िले के कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के सदस्य रत्नदीप मन्ना की शिकायत पर दर्ज किया गया है. शिकायत में कहा गया है कि 29 मई 2021 को भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौमेंधु अधिकारी के निर्देश पर नगपालिका के ऑफिस के गोदाम से लाखों रुपये की कीमत के सरकारी तिरपाल की चोरी की गई है.

शुभेंदु अधिकारी. (फोटो: पीटीआई)

शुभेंदु अधिकारी. (फोटो: पीटीआई)

कोलकाताः भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौमेंदु अधिकारी के खिलाफ बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले की नगरपालिका के कार्यालय से लाखों रुपये की राहत सामग्री चुराने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, यह मामला कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के सदस्य रत्नदीप मन्ना की शिकायत पर कांथी पुलिस थाने में दर्ज किया गया है.

मन्ना द्वारा एक जून को दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है, ‘29 मई 2021 को दोपहर 12:30 बजे शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई एवं कांथी नगरपालिका के पूर्व नगर प्रमुख सौमेंदु अधिकारी के निर्देश पर गैरकानूनी रूप से ताले खोलकर नगपालिका के ऑफिस के गोदाम से लाखों रुपये की कीमत के सरकारी तिरपाल चोरी किए हैं.’

भाजपा लगातार तृणमूल कांग्रेस पर राहत सामग्री की चोरी करने का आरोप लगाती रही है, लेकिन अब शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ इन्हीं आरोपों में मामला दर्ज किया गया है.

शिकायत में यह भी उल्लेख किया गया है कि भाजपा नेताओं  ने इस कथित चोरी में अपनी सुरक्षा के लिए सशस्त्र केंद्रीय बलों को तैनात किया था.

यह मामला अधिकारी के एक करीबी सहयोगी के धोखाधड़ी मामले में कोलकाता पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के दिन ही दर्ज किया गया.

उनके करीबी रखाल बेरा को 2019 में सिंचाई एवं जलमार्ग मंत्रालय में नौकरी का झांसा देकर धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

शुभेंदु अधिकारी ने दिसंबर 2020 में भाजपा में शामिल हो गए थे. वह नवंबर 2020 तक ममता बनर्जी सरकार में कैबिनेट मंत्री थे. वह मौजूदा समय में विधानसभा में विपक्ष के नेता हैं.

अधिकारी ने हाल ही में हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम निर्वाचन क्षेत्र से ममता बनर्जी को लगभग 1,200 वोट से हराया था.



source http://thewirehindi.com/172377/bjp-s-suvendu-adhikari-brother-accused-of-stealing-relief-material-from-municipality-office-case-filed/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ