Advertisement

Covid-19 Vaccine: क्या आपके बच्चे को कोरोना वैक्सीन की डोज लगवाना चाहिए या नहीं? जानिए पूरी बात

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने 10 मई को टीकाकरण में बच्चों को शामिल करने पर बड़ा फैसला लिया. उसने 12 से 15 साल की उम्र के बच्चों को फाइजर-बायोएनटेक की कोविड-19 वैक्सीन की आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी को विस्तार दिया. सेंटर फोर डिडीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने अपने सलाहकार ग्रुप की बैठक के बाद 12 मई को इस उम्र में इस्तेमाल का समर्थन करने वाली सिफारिशें की. अमेरिकन एकेडमी ऑफ पेडियाट्रिक्स ने भी इस फैसले का समर्थन किया. वर्जिनिया यूनिवर्सिटी में पेडियाट्रिक्स की एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर डेबी एन शीरले ने बच्चों के लिए कोविड-19 वैक्सीन लगवाने पर अभिभावकों की कुछ चिंताओं को संबोधित किया. 

1. क्या किशोरों में वैक्सीन असर करती है?
फाइजर-बायोएनटेक की तरफ से जारी हाल ही में डेटा के हवाले से उन्होंने कहा, “हां.” कोविड-19 वैक्सीन के वास्तव में इस उम्र समूह में काम करने का पता चला. अमेरिका में 12-15 साल के बच्चों पर मानव परीक्षण के दौरान सिम्पटोमैटिक कोविड-19 की रोकथाम में वैक्सीन 100 फीसद असरदार पाई गई. वैक्सीन के रिस्पॉन्स में किशोरों का ज्यादा एंटीबॉडी लेवल बना और उनका इम्यून रिस्पॉन्स भी 16-25 साल के व्यस्कों जैसा मजबूत देखा गया.

2. बच्चे पर किस तरह के साइड इफेक्ट्स की उम्मीद?
टीकाकरण के बाद हल्का साइड-इफेट्स अनुभव किया जा सकता है. सबसे ज्यादा दर्ज किए गए आम साइड-इफेक्ट्स में दर्द और इंजेक्शन वाली जगह पर सूजन रहा है. दूसरे आम साइड-इफेक्ट्स में थकान और सिर दर्द शामिल है. कुछ किशोरों ने बुखार, कंपकंपी, मांसपेशी में दर्द और जोड़ का दर्द महसूस किया है, जो दूसरे डोज के बाद ज्यादा आम हो सकता है. ये साइड-इफेक्ट्स कम समय के लिए होते हैं, और ज्यादातर एक से दो दिनों के अंदर ठीक हो जाते हैं. हालांकि, इंजेक्शन लगवाते वक्त कुछ किशोर बेहोश हो सकते हैं. अगर आपके बच्चे के साथ ऐसी स्थिति है, तो टीकाकरण केंद्र पर पहले से जानकारी दे दें. बच्चे को गिरने से बचाने के लिए बिठाकर या लिटाकर वैक्सीन दी जा सकती है. 

3. क्या बच्चों के बीच किसी तरह का गंभीर रिएक्शन रहा है?
फाइजर-बायोएनटेक के मानव परीक्षण में टीकाकरण से जुड़े किसी तरह के प्रतिकूल प्रभाव का पता नहीं चला है. बुजुर्गों में गंभीर एलर्जी रिएक्शन शायद ही कभी दर्ज हुए हों. अगर आपके बच्चे में वैक्सीन से किसी तरह का तत्काल एलर्जी रिएक्शन या गंभीर एलर्जी रिएक्शन का इतिहास है, तो वैक्सीन केंद्र के प्रशासक को बताएं ताकि आपके बच्चे की वैक्सीन लगवाने के बाद कम से कम 30 मिनट मॉनिटरिंग की जा सके.

4. 12 साल से नीचे के बच्चे के लिए वैक्सीन कब मंजूर की जाएगी?
कोविड-19 वैक्सीन निर्माताओं ने शुरू कर दिया है या छोटे बच्चों पर कोविड-19 वैक्सीन की जांच शुरू करने का मंसूबा बना रहे हैं. ज्यादा सूचना उपलब्ध होने पर स्वीकृत उम्र की सिफारिश बदल सकती है. 2-11 साल की उम्र के बच्चे संभावित तौर पर इस साल के अंत तक योग्य हो सकते हैं.

कोविड-19 से ठीक हो चुके मरीजों को लंग स्पेशलिस्ट क्यों दे रहे सावधानी की सलाह? जानें

क्या पार्क कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को बढ़ाते हैं? जानिए रिसर्च के नतीजा

 

Source link

The post Covid-19 Vaccine: क्या आपके बच्चे को कोरोना वैक्सीन की डोज लगवाना चाहिए या नहीं? जानिए पूरी बात appeared first on Latest News In Hindi हिंदी मैं ताज़ा समाचार.



source https://www.hindinewslatest.in/covid-19-vaccine-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%86%e0%a4%aa%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%9a%e0%a5%8d%e0%a4%9a%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%b0%e0%a5%8b/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ