जानें गौ माता से जुडी कुछ रोचक जानकारी

नई दिल्ली (लोकसत्य)। हिन्दू धर्म मे गए का विशेष महत्व है और इसका कारण महज ये नहीं है की प्राचीन काल में भारत एक कृषि प्रधान देश था और आज भी है और गाय को अर्थव्यस्था की रीढ़ माना जाता था। भारत जैसे और भी देश है, जो कृषि प्रधान रहे हैं लेकिन वहां गाय को इतना महत्व नहीं मिला जितना भारत में। दरअसल हिन्दू धर्म में गाय के महत्व के कुछ आध्यात्मिक, धार्मिक और चिकित्सीय कारण भी रहे हैं। आइये जानते हैं..

गौ माता अगर आपके घर में अपनी जगह जगह खड़ी रहकर आनंदपूर्वक चैन की सांस लेती है । वहां वास्तु दोष समाप्त हो जाते हैं । गाय एकमात्र पशु ऐसे है जिसका सब कुछ सभी की सेवा में काम आता है। स्वामी दयानन्द सरस्वती कहते हैं कि एक गाय अपने जीवनकाल में 4,10,440 मनुष्यों हेतु एक समय का भोजन जुटाती है जबकि उसके मांस से 80 मांसाहारी लोग अपना पेट भर सकते हैं।

जिस जगह गौ माता खुशी से रभांने लगे, आनंदपूर्वक अपनी ख़ुशी ज़ाहिर करे उस जगह देवी देवता पुष्प वर्षा करते हैं। भगवान कृष्ण ने श्रीमद् भगवद्भीता में कहा है- ‘धेनुनामस्मि कामधेनु’ अर्थात मैं गायों में कामधेनु हूं। गौ माता के गले में घंटी जरूर बांधे ;इससे आपको कई संकेत मिलेंगे और गौ माता के गले में बंधी घंटी बजने से गौ आरती होती है।

जो व्यक्ति गौ माता की सेवा पूजा करता है उस पर आने वाली सभी प्रकार की विपदाओं को गौ माता हर लेती है। गौ माता के खुर्र में शेष नागदेवता का वास होता है। जहां गौ माता विचरण करती है उस जगह सांप बिच्छू नहीं आते। गौ माता के गोबर में लक्ष्मी जी का वास होता है और सभी महत्वपूर्ण धार्मिक अनुष्ठानो में हमें गौ माता के गोबर का इस्तेमाल करना चाहिए।

गौ माता कि एक आंख में सुर्य व दूसरी आंख में चन्द्र देव का वास होता है। गौ माता के दुध मे सुवर्ण तत्व पाया जाता है जो रोगों की क्षमता को कम करता है। गौ माता की पूंछ में हनुमानजी का वास होता है, गौ माता जिस घर में आनंदपूर्वक रहती है और अपनी पूंछ हिलती है उस घर में भूत पिशाच भटकते भी नहीं अगर किसी व्यक्ति को बुरी नजर हो जाये तो गौ माता की पूंछ से झाड़ा लगाने से नजर उतर जाती है।

अगर आपको निरोग रहना है तो ये जरूर करे गौ माता की पीठ पर एक उभरा हुआ कुबड़ होता है, उस कुबड़ में सूर्य केतु नाड़ी होती है। रोजाना सुबह आधा घंटा गौ माता की कुबड़ में हाथ फेरने से समस्त रोग नष्ट होता है। जब आप किसी एक गौ माता को चारा खिलाने से तैंतीस कोटी देवी देवताओं को भोग लग जाता है।

गौ माता के दूध घी मख्खन दही गोबर गोमुत्र से बने पंचगव्य हजारों रोगों की दवा है। इसके सेवन से असाध्य रोग मिट जाते हैं। विज्ञान भी इसकी पुष्टि करता है। अगर आपको लगता है की आपका भाग्य आपका साथ नहीं दे रहा तो ये अवश्य करे। अपनी हथेली में गुड़ को रखकर गौ माता को जीभ से चटाये गौ माता की जीभ हथेली पर रखे गुड़ को चाटने से व्यक्ति की सोई हुई भाग्य रेखा अच्छी हो जाती है और उसकी किस्मत चमक जाती है।

The post जानें गौ माता से जुडी कुछ रोचक जानकारी appeared first on Hindi News: हिन्दी न्यूज़, Latest News in Hindi, Breaking Hindi News, लेटेस्ट हिंदी न्यूज़, ब्रेकिंग न्यूज़ | Loksatya.



source https://www.loksatya.com/spirituality/learn-some-interesting-information-related-to-gau-mata/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ