पाकिस्तान: ईटीपीबी को सौंपा गया ऐतिहासिक कटासराज मंदिर परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण, जानिए वजह

<p style="text-align: justify;"><strong>लाहौर:</strong> पाकिस्तान के ऐतिहासिक कटासराज मंदिर परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण संघीय सरकार की इकाई &lsquo;इवैक्यूई ट्रस्ट प्रॉपर्टी&rsquo; (ईटीपीबी) को सौंप दिया गया है. ईटीपीबी पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थलों की देखभाल करता है. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कटासराज हिन्दुओं के सबसे पवित्र स्थलों में से एक है. ये मंदिर कटास सरोवर के पास स्थित हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">ईटीपीबी के उपनिदेशक फराज अब्बास ने रविवार को कहा, &lsquo;&lsquo;उच्चतम न्यायालय के निर्णय के मद्देनजर ऐतिहासिक कटासराज मंदिरों का प्रशासनिक नियंत्रण 15 साल बाद पंजाब सरकार से वापस लेकर ईटीपीबी को सौंप दिया गया है. कटासराज में शनिवार को इससे संबंधित समारोह हुआ.&rsquo;&rsquo; अब्बास को कटासराज मंदिर परिसर का प्रशासक नियुक्त किया गया है.</p>
<p style="text-align: justify;">साल 2006 में परवेज मुशर्रफ सरकार ने कटासराज का प्रशासनिक नियंत्रण ईटीपीबी से वापस लेकर पंजाब सरकार को सौंप दिया था. पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय ने इस साल फरवरी में आदेश दिया था कि कटासराज मंदिर परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण ईटीपीबी को दिया जाना चाहिए.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें :-</strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://ift.tt/3aYqcX5" target="_blank" rel="noopener">विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफे की शुरुआत, असम के पार्टी अध्यक्ष ने सोनिया गांधी को भेजा इस्तीफा</a></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://ift.tt/3xI8Uaj Bengal Election Results 2021: बंगाल के चुनाव परिणाम पर अमित शाह की पहली प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा</a></strong></p>

Source link

The post पाकिस्तान: ईटीपीबी को सौंपा गया ऐतिहासिक कटासराज मंदिर परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण, जानिए वजह appeared first on Latest News In Hindi हिंदी मैं ताज़ा समाचार.



source https://www.hindinewslatest.in/%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%a4%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%88%e0%a4%9f%e0%a5%80%e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%ac%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b8%e0%a5%8c%e0%a4%82/

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां