नोमूरा: कोरोना की दूसरी लहर अर्थव्यवस्था की रिकवरी के लिए घातक

देश में लगातार कोविड-19 संक्रमण के 2.5 लाख से अधिक मामले देश की आर्थिक रिकवरी के लिए चिंताजनक बन रहे हैं। नोमूरा का आर्थिक गतिविधियों के इंडेक्स नोमूरा इंडिया बिजनेस रिजर्वेशन इंडेक्स (NIBRI) के मुताबिक लगातार कोरोना के बढ़ रहे मामले देश की आर्थिक रिकवरी के चिंता का विषय बन सकता है।

NIBRI को 100 के करीब पहुंचने में लगभग एक साल का समय लगा, जो गतिविधि के महामारी पूर्व स्तरों को पकड़ती है। यह 21 फरवरी को समाप्त सप्ताह में 99.3 पर पहुंची थी। तब से आठ सप्ताह में नवीनतम डेटा 18 अप्रैल को समाप्त सप्ताह के लिए उपलब्ध है। उसके बाद यह लगातार गिरकर 83.8 पर आ गया।

25 अक्टूबर 2020 को समाप्त सप्ताह में NIBRI 83.8 से कम था। यह उस सप्ताह 83.3 था। इन नंबरों से दूसरी लहर के दुष्प्रभाव को समझा जा सकता है। NIBRI को 83.3 से 99.3 तक पहुंचने में सत्रह सप्ताह लगे, लेकिन उन लाभों को पूर्ववत करने के लिए इसे केवल आठ सप्ताह लगे।

विशेषज्ञों का मानना है कि अभी इससे और बुरा समय आना बाकी है क्योंकि ज्यादातर राज्य मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी के कारण संक्रमण में बढ़ोतरी रोकने के लिए लॉकडाउन का सहारा ले रहे हैं। 

नोमूरा के अर्थशास्त्री सोनल वर्मा और अरूदीप नंदी ने कहा कि पिछले सप्ताह से लॉकडाउन की कठोरता के साथ नहीं बढ़ाया गया है। यह अस्थायी हो सकता है क्योंकि राज्य अस्पताल के इंफ्रास्ट्रक्चर पर अधिक दबाव न पड़े इस कारण सख्त प्रतिबंध लगा रहे हैं। इससे पता चलता है कि दूसरी लहर का आर्थिक प्रभाव आने वाले हफ्तों में बढ़ सकता है।

कोरोना ने सिखाया छह नहीं 12 महीने का बनाएं आपात कोष

Source link

The post नोमूरा: कोरोना की दूसरी लहर अर्थव्यवस्था की रिकवरी के लिए घातक appeared first on Latest News In Hindi हिंदी मैं ताज़ा समाचार.



source https://www.hindinewslatest.in/%e0%a4%a8%e0%a5%8b%e0%a4%ae%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a5%82%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%b2%e0%a4%b9/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ