मध्य प्रदेश: कोविड संक्रमित कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया का निधन

राज्य के अलीराजपुर ज़िले के जोबट क्षेत्र की 49 वर्षीय विधायक कलावती भूरिया कोरोना संक्रमित होने के बाद से इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती थीं. इससे पहले शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के दो भाजपा विधायकों का भी कोरोना संक्रमण के चलते निधन हो गया था.

कलावती भूरिया. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

कलावती भूरिया. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

इंदौर: मध्य प्रदेश की कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया की शनिवार तड़के यहां एक निजी अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के दौरान मौत हो गई. वह 49 वर्ष की थीं.

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि भूरिया पिछले 12 दिन से इंदौर के शैल्बी अस्पताल में भर्ती थीं. वह विधानसभा में अलीराजपुर जिले के जोबट क्षेत्र की नुमाइंदगी करती थीं.

शैल्बी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक विवेक जोशी ने बताया कि भूरिया के फेफड़ों में 70 प्रतिशत से ज्यादा संक्रमण था.

जोशी ने बताया कि भूरिया को जीवन रक्षक तंत्र पर भी रखा गया था. लेकिन उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई और उनकी जान नहीं बचाई जा सकी.

भूरिया, पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया की भतीजी थीं. वह वर्ष 2018 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल कर

साल 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भूरिया को आलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिया था, जिसके बाद अपने राजनीतिक करिअर में पहली बार विधायक बनी थीं. इसके पहले वे लगातार तीन बार अविभाजित झाबुआ की जिला पंचायत अध्यक्ष रहीं.

इस बीच कलावती भूरिया के निधन पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई राजनेताओं ने शोक जताया है.

मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘प्रदेश के जोबट क्षेत्र की लोकप्रिय विधायक श्रीमती कलावती भूरिया जी के निधन का अत्यंत दुखद समाचार मिला. वे आमजन के हितों की रक्षा के लिए तत्पर रहने वाली मिलनसार व मृदुभाषी विधायक थीं. ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान और परिजनों को संबल दें. विनम्र श्रद्धांजलि!’

पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘प्रदेश के जोबट क्षेत्र की विधायक कलावती भूरिया के दुःखद निधन का समाचार बेहद व्यथित व स्तब्ध करने वाला है. वह एक सक्रिय, दबंग, जुझारू और मिलनसार विधायक थीं.’

कमलनाथ ने यह भी कहा कि अपने क्षेत्र की जनता के प्रति कलावती भूरिया का विशेष लगाव था और वह उनके हितों के लिए सदैव संघर्षरत रहती थीं.

जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल ने उनके निधन को बेहद दुखद बताते हुए कहा कि हमने एक मूल्यवान नेता व विधायक को खो दिया है.

अलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल ने इसे जिले के लिए नहीं बल्कि पूरे प्रदेश की कांग्रेस के लिए बड़ी क्षति बताया. भूरिया का निधन स्थानीय कांग्रेस के लिए आघात की तरह है. इससे पहले गुरुवार देर रात जोबट कांग्रेस अध्यक्ष निगम रेमंड का कोरोना से निधन हो गया था.

कोरोना संक्रमण के चलते यूपी के दो भाजपा विधायकों का निधन

इससे पहले शुक्रवार शाम भाजपा के लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव (76) का एक अस्पताल में निधन हो गया था.

इसी दिन सुबह औरैया जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक रमेश चंद्र दिवाकर (56) ने भी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया।

उल्लेखनीय है कि 1996 के विधानसभा मध्यावधि चुनाव में सुरेश कुमार श्रीवास्तव पहली बार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए. इसके बाद 2002 में चौदहवीं विधानसभा और 2017 में लखनऊ पश्चिम से तीसरी बार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए.

कोरोना संक्रमित होने के बाद लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई अस्पताल में उनका निधन हो गया.

सूत्रों के मुताबिक, औरैया सदर के भाजपा विधायक रमेश चंद्र दिवाकर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और मेरठ के एक अस्पताल में उनका उपचार चल रहा था. वह पिछले चार दिनों से अस्पताल में भर्ती थे और दो दिनों से उनकी हालत गंभीर थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)



source http://thewirehindi.com/167705/madhya-pradesh-congress-mla-kalawati-bhuria-dies-of-covid-19/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ