Advertisement

आज अप्रैल फूल नहीं बने, बल्कि इन 11 वित्तीय गलतियों को सुधारें

दुनियाभर में 1 अप्रैल को फूल दिवस के रूप में मनाया जाता है। आज के दिन हर कोई एक दुसरे को हसीं मजाक में मूर्ख बनाने की कोशिश करते हैं। खैर, आज हम आपको मुर्ख बनाने या बनने से नहीं बल्कि उन 11 वित्तीय गलतियों को सुधारने की सलाह दे रहे हैं जो आप अनजाने में करते आ रहे हैं। इससे आप अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के साथ भविष्य को सुरक्षित कर पाएंगे।

1. बचत खाते से अधिक रिटर्न की उम्मीद

कोरोना संकट के बाद बैंकों ने लोन सस्ता किया है तो जमा पर ब्याज दर भी कम किया है। ऐसे में अगर आप बचत खाते में जमा रकम से अधिक रिटर्न की उम्मीद लगा रहे हैं तो गलत कर रहे हैं। आप ज्यादा रिटर्न के लिए इक्विटी या म्यूचुअल फंड में निवेश करें।

2. जरूरत से अधिक बीमा लेना

आमतौर पर लोग टैक्स से बचने के लिए बीमा पॉलिसी की खरीदारी कर लेते हैं। आप भी कहीं उनमें शामिल तो नहीं है। यह जान लें कि कभी भी बीमा पॉलिसी निवेश नहीं होता है। अगर आप जरूरत से अधिक पॉलिसी का प्रीमियम भर रहें तो यह गलती सुधारें। निवेश के लिए दूसरे माध्यम का चुनाव करें।

3. निवेश के लिए बड़े रकम का इंतजार

नियमित रूप से निवेश करना वित्तीय अनुशासन का उदाहरण है। अगर आप निवेश की शुरुआत बड़े रकम से करने के लिए इंतजार कर रहे हैं तो गलती कर रहे हैं। आप छोटी रकम से भी शुरुआत कर अच्छी रकम जमा कर सकते हैं।

4. बिल का न्यूनतम भुगतान की आदत

अगर आप उन लोगों में शामिल हैं जो क्रेडिट कार्ड से खरीदारी कर बिल का न्यूनतम भुगतान करने को आदी हैं तो आप बड़ी गलती कर रहे हैं। बकाया रकम पर लगने वाला ब्याज आपकी वित्तीय स्थिति को बिगाड़ देगा। इससे बचने के लिए कार्ड से उतनी ही खरीदारी करें जितना आप चुका पाएं।

5. यूटिलिटी बिल का समय पर भुगतान नहीं

मोबाइल, बिजली, गैस, केबल आदि का बिल अगर आप समय पर भुगतान नहीं कर पा रहे हैं तो समझ लें कि आपकी वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है। इसको सुधारने के लिए फिजूलखर्ची को रोकें और समय पर बिल भरें।

6. ईएमआई पर खरीदारी की आदत

ई-कॉमर्स की पहुंच बढ़ने से छोटी से छोटी चीज ईएमआई पर उपलब्ध होने का चलन तेजी से बढ़ा है। हालांकि, यह एक वित्तीय जाल है जो आपको उलझा रहा है। एक समय आपको इस जाल से निकलना काफी मुश्किल हो जाएगा। इस गलती को जल्द से जल्द सुधारें।

7. आपातकाल फंड का दूसरे मद में खर्च करना

कभी भी आपातकाल फंड का दूसरे मद में खर्च नहीं करें। कोरोना महामारी ने बता दिया है कि आपात स्थिति कभी भी आ सकती है। ऐसे में कम से कम तीन से छह महीने के खर्च के बराबर पैसा आपातकालीन फंड में जरूर रखें।

8. महंगाई के असर को कम आंकना

कोरोना महामारी के बाद आय घटी और महंगाई तेजी से बढ़ी है। ऐसे में अगर आप बढ़ी महंगाई के असर को कम आंक रहे हैं तो आप वित्तीय संकट में फंस सकते हैं। इसलिए, इस संकट के समय में घर का बजट एक बार फिर से बना लें।

9. ऊंचे ब्याज पर लोन चुकाना

कोरोना संकट के बाद बैंकों ने सभी तरह के लोन पर ब्याज घटाया है। अगर, आपने होम या कार लोन पहले महंगे दर पर लिया है और अभी भी ऊंची दर पर ईएमआई चुका रहे हैं तो बड़ी गलती कर रहे हैं। आप किसी बैंक में लोन को ट्रांसफर कर अच्छी रकम बचा सकते हैं।

10. टालने की आदत

आज से नया वित्त वर्ष शुरू हो रहा है। ऐसे में टालने की आदत छोड़ें औैर वित्त वर्ष शुरू होने के साथ अपनी आय और कर की देनदारी को देखते हुए निवेश और बचत शुरू करें। इससे आप अपने निवेश पर शानदार रिटर्न पाने के साथ कर भी बचा पाएंगे।

11. महत्वपूर्ण जानकारियां न पढ़ना

कोई लोन लेने या कोई इंश्योरेंस खरीदने या फिर किसी अन्य फाइनैंशल साधन में निवेश करने से पहले उसके नियमों एवं शर्तों को पढ़ना एक थकाऊ काम लग सकता है, लेकिन उन्हें जरूर पढ़ना चाहिए। जल्दबाजी में आकर ऐसे समझौतों पर हस्ताक्षर नहीं करना चाहिए।

आपकी जेब पर पड़ेगा असर, आज से बदल गए हैं ये 10 नियम

Source link

The post आज अप्रैल फूल नहीं बने, बल्कि इन 11 वित्तीय गलतियों को सुधारें appeared first on Latest News In Hindi हिंदी मैं ताज़ा समाचार.



source https://www.hindinewslatest.in/%e0%a4%86%e0%a4%9c-%e0%a4%85%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%88%e0%a4%b2-%e0%a4%ab%e0%a5%82%e0%a4%b2-%e0%a4%a8%e0%a4%b9%e0%a5%80%e0%a4%82-%e0%a4%ac%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%b2%e0%a5%8d/

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ