Vaccination: तीसरे दिन 1.48 और अब तक 3.81 लाख लोगों को कोरोना का टीका लगा, दो की मौत पर सरकार ने दी सफाई



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तीन दिन पूरे हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार तीसरे दिन सोमवार को 1,48,266 लोगों को टीका लगाया गया। इसके साथ ही अब तक 3,81,305 लोगों को कोरोना के टीका का लाभ मिल चुका है। तीन दिनों में वैक्सीनेशन के बाद साइड इफेक्ट्स के 580 मामले रिपोर्ट किए गए हैं। इनमें से सिर्फ सात लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है। इनमें तीन दिल्ली, दो कर्नाटक और एक-एक मरीज उत्तराखंड-छत्तीसगढ़ में भर्ती हैं।

दिल्ली में तीन लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया जिनमें से दो को छुट्टी मिल चुकी है और एक को मैक्स अस्पताल, पटपडगंज में निगरानी में रखा गया है। अधिकारी ने बताया कि उत्तराखंड में एम्स ऋषिकेश में एक व्यक्ति को भर्ती कराया गया और उसकी हालत स्थिर है। छत्तीसगढ़ में एक व्यक्ति को निगरानी में रखा गया है जबकि कर्नाटक में दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि टीका लगवाने के बाद दो लोगों की मौत हुई है लेकिन मौत की वजह वैक्सीन नहीं है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार मुरादाबाद के एक शख्स की मौत हृदय रोग के कारण हुई है। जबकि कर्नाटक के युवक की मौत के बाद पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं देर रात कर्नाटक के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जानकारी दी गई कि बेल्लारी में टीका लगवाने युवक की मौत हृदय रोग संबंधी समस्या की वजह से हुई है।

पहले दिन सबसे ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगी

  • पहला दिन- 2,07,229
  • दूसरा दिन- 17,072
  • तीसरा दिन- 1,48,266

तीसरे दिन सबसे ज्यादा टीका कर्नाटक के लोगों को लगा

राज्य कितने लोगों को टीका
कर्नाटक 36,888
पश्चिम बंगाल 11,588
तेलंगाना 10,352
बिहार 8,656
केरल 7,070
तमिलनाडु 7,628
मध्य प्रदेश 6,665
असम 1,822
दिल्ली 311

(सोमवार को 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में वैक्सीनेशन हुआ। सभी राज्यों का डेटा अभी नहीं आया है।)

ये हो रहा है साइडइफेक्ट
कोविशील्ड वैक्सीन लगने से टीका लगने की जगह नरम पड़ सकती है। दर्द, थकान, मांसपेशियों में पीड़ा, अस्वस्थता, जोड़ो का दर्द, ठंड और जी मचलाने जैसे स्थिति देखी जा सकती है। वही कोवैक्सीन का टीका लगने के  बाद दर्द, सिर में दर्द, थकान, बुखार, शरीर और पेट में दर्द, जी मिचलाना, उल्टी, चक्कर आना, पसीना आना और ठंड लगाना आदि संभव है। स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, पहले दो दिन में दो लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दी गई है। कुछ लोगों को वैक्सीन देने के बाद में सिरदर्द,चक्कर आना, पसीना आना और सीने में भारीपन जैसी शिकायत सामने आई है। लेकिन कोई गंभीर स्थिति में नहीं है। राज्य सरकारों को हर हफ्ते में चार दिन ही टीकाकरण के निर्देश जारी किए गए है, ताकि अन्य लोगों को किसी भी प्रकार की समस्याएं नहीं आए।

आंध्र में हफ्ते में 6 दिन वैक्सीनेशन
हेल्थ मिनिस्ट्री ने बताया कि आंध्र में सबसे ज्यादा हफ्ते में 6 दिन और मिजोरम में 5 दिन टीका लगाया जाएगा। वहीं, गोवा, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में हफ्ते में दो दिन वैक्सीनेशन होगा।

इन राज्यों में 4 दिन वैक्सीनेशन
अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दादर और नगर हवेली, दमन और दीव, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में हफ्ते में 4 दिन वैक्सीनेशन होगा।

इन राज्यों में 3 दिन वैक्सीनेशन
अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड और ओडिशा में हफ्ते में तीन दिन ही वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए रखे गए हैं।

UP में वार्ड बॉय की टीकाकरण के 24 घंटे बाद जान गई
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में जिला अस्पताल के एक वार्ड बॉय महिपाल सिंह (46 साल) की कोरोना वैक्सीन लगने के 24 घंटे बाद अचानक हालत बिगड़ गई। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। परिवार का आरोप है कि कोविड-19 से बचाव के लिए अस्पताल में शनिवार को वैक्सीन लगी थी। इसके बाद ही महिपाल की हालत बिगड़ी और मौत हो गई।



Source link



source https://www.hindinewslatest.in/national/vaccination-%e0%a4%a4%e0%a5%80%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a5%87-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%a8-1-48-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%a4%e0%a4%95-3-81-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%96-%e0%a4%b2%e0%a5%8b/

Related Posts

टिप्पणी पोस्ट करें

Subscribe Our Newsletter